anubhav-mittal_1486277874.jpeg
anubhav-mittal_1486277928.jpeganubhav-mittal_1486277844.jpegfraud-company_1486109648.jpegfraud-company_1486118424.jpeg

Anubhav Mittal Was Planing To Launch Facebook Like Networking Site In India

Added by Top MLM Company

0 reviews

Contact Listing Owner

Contact the Listing Owner

To inquire about this listing, complete the form below to send a message to the listing owner.


Rate this post
top-5-australian-business-directories-free-listing

Anubhav Mittal Was Planing To Launch Facebook Like Networking Site In India,

फेसबुक को भारत से खत्म कर देता 26 साल का ये युवक, अगर मिल जाता उसे मौका

anubhav mittal was planing to launch facebook like networking site in india

महज 26 साल की उम्र में इस शख्स ने 3700 करोड़ रुपये की कंपनी खड़ी करके सबकों चौंका दिया और इसका अगला कदम फेसबुक को मात देना था। अनुभव मित्तल फरवरी से अपने ठगी के धंधे को काफी विस्तार देने जा रहा था। यू-ट्यूब पर कंपनी द्वारा 27 जनवरी को डाले गए एक वीडियो में दावा किया गया है कि कंपनी जल्द ही फेसबुक की तर्ज पर भारत का सोशल नेटवर्किंग प्लेटफॉर्म लांच करेगी। इसके साथ ही कॉल सेंटर और ई-कॉमर्स व्यवसाय में भी उतरने की योजना थी। ई-कॉमर्स को अनुभव ने सोशल कॉमर्स का नाम दिया। उसका दावा था कि इसके जरिए वह सोशल ट्रेड के निवेशकों को बड़ी कंपनियों के महंगे उत्पाद काफी कम कीमत पर उपलब्ध कराएगा। इसके लिए उसने कई लॉजिस्टिक कंपनियों से अनुबंध करने का भी दावा किया था। सोशल नेटवर्किंग प्लेटफॉर्म और ई-कॉमर्स के लिए अनुभव ने लगभग सभी तैयारियां पूरी कर ली थीं। फरवरी में बड़े कार्यक्रम के जरिये इन्हें लांच किया जाना था। अनुभव ने वीडियो में दावा किया है कि उसका सोशल नेटवर्किंग प्लेटफॉर्म फेसबुक से भी बड़ा और मजबूत होगा, क्योंकि फेसबुक के पास वास्तविक ऑडियंस (यूजर्स) नहीं है जबकि उसके सोशल मीडिया पर सभी यूजर्स वास्तविक होंगे।

anubhav mittal was planing to launch facebook like networking site in india

अनुभव ने इसे डिजिटल इंडिया प्रोग्राम से जोड़कर निवेशकों के सामने प्रस्तुत किया था। इतना ही नहीं अनुभव लोगों को भावनात्मक रूप से अपने हर निर्णय को देश हित में, देश की तरक्की से जोड़कर और निवेशकों के हित में जोड़कर दिखाता था। सात लाख लोगों से 3700 करोड़ रुपये की ठगी का मास्टर माइंड अनुभव मित्तल कॉलेज के समय से ही काफी तेज दिमाग का था। उसने पहले सॉफ्टवेयर और हार्डवेयर के धंधे में तेज दिमाग का इस्तेमाल किया, लेकिन सफल न होने पर ठगी के धंधे में उतर गया। अगस्त-2015 में उसने एबलेज कंपनी से सोशल ट्रेड डॉट बिज के नाम से ऑनलाइन पोर्टल बना जनवरी-2017 तक 3700 करोड़ रुपये से ज्यादा का कारोबार कर लिया।

anubhav mittal was planing to launch facebook like networking site in india

सोशल ट्रेड से पहले एबलेज कंपनी का कारोबार महज कुछ लाख रुपये था। इन डेढ़ वर्ष में जब कंपनी का कारोबार तेजी से बढ़ा तब भी अनुभव ने आयकर विभाग से बचने के लिए 2016 में 4.5 करोड़ रुपये का घाटा दिखाया। कंपनी के लगातार घाटे में होने के बाद अनुभव सोशल ट्रेड को प्रमोट करने के लिए बॉलीवुड सितारों के साथ करोड़ों रुपये की पार्टियां और कार्यक्रम आयोजित करता रहा। इन्हीं पैसो से उसने नोएडा में पांच करोड़ रुपये और सात करोड़ रुपये से दो महंगी प्रॉपर्टी और कई महंगी गाड़ियां खरीदीं। इसके अलावा कई बार हवाई जहाज से विदेश की यात्रा भी की। ठगी के धंधे में अनुभव का दिमाग काफी सफल रहा। वह हमेशा निवेशकों को फंसाने के लिए नया आइडिया लाता था। मकसद एक ही था कि ज्यादा से ज्यादा लोगों को सदस्य बनाकर पैसे ऐेंठे जाएं।

anubhav mittal was planing to launch facebook like networking site in india

एसटीएफ के डीएसपी राजकुमार मिश्रा के अनुसार अगर कोई कंपनी घाटे में है तो वह कैसे अपने लगभग 400 डायमंड क्लब के निवेशकों को ऑस्ट्रेलिया घुमाने ले जाने की योजना बना रही थी। अनुभव की गिरफ्तारी के बाद कंपनी के ऐसे बड़े निवेशक सामने आ रहे हैं जिन्होंने अपने मोटे मुनाफे के लिए हजारों सदस्य बनाए। नोएडा सेक्टर-63 कंपनी के बाहर अनुभव के समर्थन में पहुंची एक महिला ने दावा किया कि उसने एक हजार महिलाओं को कंपनी से जोड़ा था। सभी गृहणियां हैं। वहीं बुलंदशहर के एक व्यक्ति ने 9500 लोगों को सोशल ट्रेड डॉट बिज का सदस्य बनाया था। इनके सामने अब मुसीबत ये है कि इनके द्वारा सदस्य बनाए गए लोग अब इनसे अपना पैसा वापस मांग रहे हैं।

anubhav mittal was planing to launch facebook like networking site in india

एसटीएफ डीएसपी राजकुमार मिश्रा ने बताया कि ईमेल पर कुछ ऐसी भी शिकायतें आईं हैं जिसमें कंपनी द्वारा निवेशकों को भेजी गई पीपीटी अटैच है। इन पीपीटी में कंपनी ने निवेशक को कई नामी कंपनियों को अपना ग्राहक बताया था। कंपनी ने पीपीटी के जरिये निवेशक से दावा किया था कि नामी कंपनियां इंटरनेट पर लाइक्स के लिए सोशल ट्रेड केसाथ व्यवसाय करती हैं। वास्तविकता में कंपनी के पास कोई ग्राहक नहीं है जो उन्हें लाइक्स के लिए पैसे दे रहा था। 

Add Your Review

Please login or register to add your review.

Skip to toolbar